अपना जिला

डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के सदस्यों का इंकार तथाकथित मीडिया सोसायटी की हरकत की निंदा

हनुमानगढ़। डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब हनुमानगढ़ ने मीडिया सोसायटी नामक एक कथित संगठन द्वारा कल हुई बैठक में डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब से जुड़े पत्रकारों और पदाधिकारियों के बैठक में शामिल होने सम्बन्धी दिये गये फर्जी नामों की निंदा की है। डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के जिलाध्यक्ष बालकृष्ण थरेजा के अनुसार पत्रकारों के हितों के दावे करने वाले इस संगठन ने कल हुई बैठक की विज्ञप्ति जारी की है जिसमें डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब से जुड़े पत्रकारों के नाम बैठक में शामिल होने सम्बन्धी दिये गये हैं जबकि ये पत्रकार इस बैठक में शामिल ही नहीं हुए। उक्त सोसायटी की विज्ञप्ति के अनुसार बैठक में डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के जिला उपाध्यक्ष सुभाष गुप्ता, रवि ढ़ालिया, निर्मल सिंह, राजेश अग्रवाल, राजेन्द्र वाट्स आदि पत्रकार शामिल ही नहीं हुए जबकि उक्त सोसायटी ने अपनी विज्ञप्ति में इन पत्रकारों के शामिल होने के दावे किये हैं। उक्त पत्रकारों के अनुसार वे ऐसे किसी संगठन की बैठक में शामिल नहीं हुए। प्रेस विज्ञप्ति में जानकारी देते हुए डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के महासचिव राजु रामगढिय़ा ने बताया कि इस मुद्दे पर आगामी रविवार को डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब की बैठक आयोजित की गई है। बैठक में इस तथाकथित संगठन द्वारा जारी की गई फर्जी विज्ञप्ति और अन्य मुद्दों पर चर्चा की जायेगी।Date:- (Wed Feb 25, 2015 At 4:48 PM)

देश-प्रदेश

मुझे जेल भेजने की धमकियां मिला करती थीं: मोदी

नई दिल्ली। राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में विरोधियों को नसीहत दी और अपनी सरकार के कार्यक्रम भी गिनाए। मोदी ने कहा कि देश को आगे ले जाने में सभी सरकारों का योगदान है। साथ ही मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में न धमकियां चलती हैं, न चलेंगी। मोदी ने कहा काले धन पर किसी भी पार्टी को धमकी नहीं दी गई है। जब मैं 14 साल गुजरात का मुख्यमंत्री था, मुझे जेल भेजने की धमकियां मिला करती थीं। जो बातें किसी ने कही नहीं, उसे किसी के मुंह में ना डालें। जिस नजरिए से आप जिए हैं, उस नजरिए से जीने को ना कहें। सरकारी योजनाओं के नाम बदले जान के मुद्दे पर मोदी न कहा कि यूपीए सरकार ने एनडीए सरकार की कई योजनाओं के नाम बदले हैं। वाजपेयी के नाम से बनी योजनाओं के भी नाम बदले गए हैं। मोदी ने कहा कि आधार कार्ड योजना एनडीए की थी। भोजन गारंटी योजना भी एनडीए की थी। शिक्षा का अधिकार कार्यक्रम भी वाजपेयी जी ने चलाई थी। बीजेपी पर उच्चवर्ग की पार्टी होने का आरोप लगता था। बीजेपी ने ऐसी राज्यों में सरकार बनाई जहां अल्पसंख्यक बड़ी संख्या में हैं। गोवा-नागालैंड में ईसाई बड़ी संख्या में हैं, पंजाब में सिख हैं और कश्मीर में मुस्लिमों की बड़ी आबादी है, लेकिन बीजेपी ने सभी राज्यों में सहयोगियों के साथ सरकार बनाई। बीजेपी उत्तर से दक्षित तक है। गंगा सफाई क्या कारपोरेट वर्ल्ड के लिए है। स्वच्छता अभिआन गरीबों से जुड़ा हुआ है। जन धन योजना गरीबों के लिए है। हमारी सरकार गरीबों के लिए है। हमारा लक्ष्य 2022 तक गरीबों को मकान देने का है। ये हमारा या आपका (विपक्ष) नहीं गरीबों का कार्यक्रम है। सरकार हर गरीब की सेवा के लिए तैयार है।

अपना जिला

आइजक न्यूटन पुस्तकालय एवं वाचनालय का डॉ रामप्रताप ने किया लोकार्पण

हनुमानगढ़, टाउन स्थित प्रेम नगर में सर आइजक न्यूटन पुस्तकालय एवं वाचनालय का लोकार्पण रविवार को जल संसाधन मंत्री डॉ रामप्रताप ने किया। प्रेम नगर के सामुदायिक भवन में बनाए गए इस पुस्तकालय में सीबीटी, एनबीटी, साहित्य अकादमी, भारतीय ज्ञानपीठ, राजकमल व वाणी प्रकाशन, सस्ता साहित्य मंडल की विशेषकर बच्चों के लिए हिंदी और अंग्रेजी में पुस्तकें मौजूद हैं। साथ ही प्रतियोगिता परिक्षाओं और आईआईटी इत्यादि परीक्षा की तैयारी के लिए पुस्तकें उपलब्ध करवाई गई हैंै। कार्यक्रम में जिला कलक्टर पी.सी.किशन द्वारा जिले के विभिन्न इलाकों में पुस्तकालय खोलने में सराहनीय सहयोग करने पर नगर परिषद आयुक्त श्रवण बिश्नोई को जल संसाधन मंत्री डॉ रामप्रताप ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ रामप्रताप ने आइजक न्यूटन पुस्तकालय की प्रशंसा करने के साथ साथ जिला कलक्टर पीसी किशन द्वारा जिले में विभिन्न पुस्तकालय खोलने के कार्य को मील का पत्थर बताते हुए कहा कि कच्ची बस्तियों में खोले गए ये पुस्तकालय बच्चों के सर्वांगीण विकास का केन्द्र साबित होंगे। गौरतलब है कि जिला कलक्टर पीसी किशन ने जिला मुख्यालय पर ही आइजक न्यूटन समेत 8 पुस्तकालय कच्ची बस्ती इलाकों में खोले हैं। आइजक न्यूटन पुस्तकालय की खास बात ये भी है कि इसमें वैज्ञानिक आइजक न्यूटन की गन मैटल से बनी मूर्ति और 12 अन्य भारतीय और विदेशी वैज्ञानिकों की दीवार पर बनी अति उत्कृष्ट मूर्तियां भी शामिल हैं। जिनमें मैरी क्यूरी, जगदीश चंद्र बसु, राइट बंधु,आर्यभट्ट, गैलीलियो, डॉ हरगोविंद खुराना, आर्कमिडीज, चंद्रशेखर वैकटरमन, आइंस्टीन, मेघनाद शाहा, लुई पाश्चर, चंद्रशेखर सुब्रह्मणम की मूर्तियां शामिल हंै। ये सभी मूर्तियां पल्लू के जवाहर नवोदय विद्यालय के शिक्षक, मूर्तिकार और चित्रकार रामकिशन अडिग के द्वारा बनाई गई हंै। श्री अडिग ने बताया कि उन्हें इस कार्य में छात्र पुनीत और राहुल ने विशेष सहयोग किया। इसके अलावा पुस्तकालय में बैडमिंटन कोर्ट भी बनाया गया है। साथ ही बच्चों के शारीरिक व्यायाम के लिए कई मशीनें में लगाई गई हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ रामप्रताप के अलावा विशिष्ट अतिथि नगर परिषद के पूर्व सभापति अमर सिंह राठौड़, जिला कलक्टर पीसी किशन, नगर परिषद आयुक्त श्रवण बिश्नोई, केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंधक मोहम्मद लतीफ के अलावा बड़ी संख्या में स्थानीय बच्चे और उनके अभिभावक मौजूद थे। कार्यक्रम में मंच संचालन युवा कवि राजू सारसर राज ने किया। Date:- (Mon Feb 9, 2015 At 4:39 PM)

अपना जिला

उपप्रधान चुनाव में बीजेपी के 4 कांग्रेस के 2 और 1 निर्दलीय बनी उपप्रधान

हनुमानगढ़। प्रधान के बाद जिले की सात पंचायत समितियों में रविवार को हुए उपप्रधान चुनाव में बीजेपी के चार, कांग्रेस के दो और एक निर्दलीय उपप्रधान बनी। नोहर, भादरा, पीलीबंगा और संगरिया में जहां बीजेपी के उपप्रधान बने। वहीं हनुमानगढ़, टिब्बी में कांग्रेस व रावतसर में निर्दलीय प्रत्याशी उपप्रधान बनने में सफल रही। नोहर में बीजेपी के धर्मवीर बने उपप्रधान नोहर में उपप्रधान बने धर्मवीर को 15 मत मिले वहीं कांग्रेस प्रत्याशी राधेश्याम को 12 वोट मिले. भादरा में बीजेपी की पूजा बनी उपप्रधान भादरा में बीजेपी की पंचायत समिति सदस्य पूजा को उपप्रधान चुनाव में 20 वोट मिले वहीं कांग्रेस के राजेन्द्र को महज 4 मत प्राप्त हुए। पीलीबंगा में बीजेपी के जसविन्द्र सिह बने उपप्रधान बीजेपी के जसविंन्द्र सिंह को 13 और कांग्रेस के जगदीप सिंह को 6 मत मिले संगरिया में बीजेपी की मंजूबाला बनी उपप्रधान बीजेपी की मंजूबाला को 11 और कांग्रेस की मनजीत को 4 वोट मिले हनुमानगढ़ में कांग्रेस के अमर सिंह बने उपप्रधान कांग्रेस के अमर सिंह को 12 और बीजेपी प्रत्याशी मदनलाल को 10 वोट मिले टिब्बी में कांग्रेस के अर्जुनराम बने उपप्रधान कांग्रेस के अर्जुन राम को 9 और बीजेपी प्रत्याशी सरिता को 5 और निर्दलीय प्रत्याशी निर्मला को 3 मत मिले। रावतसर में निर्दलीय सोनादेवी बनी उपप्रधान रावतसर में कांग्रेस और बीेजपी दोनों ही पार्टियों से कोई प्रत्याशी खडा नहीं हुआ। केवल दो निर्दलीय प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में थे। निर्दलीय प्रत्याशी सोनादेवी को 11 और दूसरी निर्दलीय प्रत्याशी रोशनी को 4 वोट मिले। Date:- (Mon Feb 9, 2015 At 4:34 PM)

बहुत कुछ

जिले की 4 पंचायत समितियों में बीजेपी और 3 में बने कांग्रेस के प्रधान

हनुमानगढ़। जिले की सात पंचायत समितियों में से 4 में बीजेपी और 3 में कांग्रेस के प्रधान निर्वाचित हुए हैं। जिले की नोहर, भादरा, संगरिया और टिब्बी पंचायत समितियों में बीजेपी के प्रधान निर्वाचित हुए हैं। वहीं रावतसर, पीलीबंगा और हनुमानगढ़ पंचायत समिति में कांग्रेस के प्रधान निर्वाचित हुए। खास बात ये कि टिब्बी और संगरिया पंचायत समिति में बीजेपी का बहुमत नहीं होने के बावजूद पार्टी इन दोनों पंचायत समितियों में प्रधान बनाने में कामयाब रही। टिब्बी में तो कांग्रेस के पास बीजेपी से 3 वोट ज्यादा थे। उसके बावजूद पार्टी ने वहां बीेजेपी प्रत्याशी को प्रधान बनाने में सफलता हासिल की। नोहर में बीजेपी के अमरसिंह पूनियां बने प्रधान नोहर पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी, कांग्रेस और निर्दलीय समेत तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। मतदान में बीजेपी के अमर सिंह पूनियां को 18 और कांग्रेस प्रत्याशी हेमराज को 9 मत मिले। वहीं निर्दलीय कैलाश चंद्र को कोई मत नहीं मिला। गौरतलब है कि नोहर के कुल 27 ब्लॉक में बीजेपी के 15 कांग्रेस के 10 और 2 निर्दलीय सदस्य हैं। भादरा पंचायत समिति में बीेजेपी की श्रीमती संतोष बनी प्रधान भादरा पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के दो प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में थे। खास बात ये कि कांग्रेस ने निर्दलीय प्रत्याशी पुष्पा रानी को प्रत्याशी बनाया। मतदान में बीजेपी की श्रीमती संतोष बेनीवाल को 20 और कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती पुष्पा रानी को 6 मत मिले। खास बात ये कि सीपीआईएम ने जिलेभर में मतदान का बहिष्कार किया हुआ था। इसके बावजूद सीपीआईएम की एक सदस्य ने अपना वोट डाला। गौरतलब है कि हाल ही में पंचायत समिति सदस्यों के हुए चुनाव में भादरा के कुल 27 ब्लॉक में बीजेपी के 18 कांग्रेस के 3 निर्दलीय 4 और 2 सदस्य सीपीआईएम निर्वाचित हुए थे। संगरिया में बीजेपी की रजनी बनी प्रधान संगरिया पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी, कांग्रेस और निर्दलीय समेत तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। मतदान में बीजेपी की रजनी को 10 और कांग्रेस प्रत्याशी विनोद कुमार को 2 मत मिले। वहीं निर्दलीय किरण बाला को 3 मत मिले। गौरतलब है कि संगरिया के कुल 15 ब्लॉक में बीजेपी के 7 कांग्रेस के 4 और 4 निर्दलीय सदस्य हैं। टिब्बी पंचायत समिति में बीजेपी की अमनदीप कौर बनी प्रधान टिब्बी पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी, कांग्रेस और निर्दलीय समेत तीन प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। मतदान में बीजेपी प्रत्याशी अमनदीप कौर को 10 और कांग्रेस प्रत्याशी किरण कुमारी को 7 और निर्दलीय प्रत्याशी सरिता को 0 मत मिले। गौरतलब है कि टिब्बी के कुल 17 ब्लॉक में बीजेपी को 5 कांग्रेस के 8 और और 4 निर्दलीय सदस्य निर्वाचित हुए थे। हनुमानगढ़ पंचायत समिति में कांग्रेस के जयदेव बने प्रधान हनुमानगढ़ पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी, और कांग्रेस के दो प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। मतदान में बीजेपी के गुरदेव सिंह को 10 और कांग्रेस के जयदेव भड़ासरा को 12वोट मिले। गौरतलब है कि हनुमानगढ़ के कुल 23 ब्लॉक में बीजेपी के 9 कांग्रेस के 12, 1 सीपीआईएम और 1 निर्दलीय सदस्य हैं। पीलीबंगा में कांग्रेस के प्रेमराज बने प्रधान पीलीबंगा पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के दो ही प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। मतदान में कांग्रेस प्रत्याशी पे्रमराज को 13 और बीजेपी प्रत्याशी सुशील कुमार को 6 मत मिले । गौरतलब है कि पीलीबंगा के कुल 19 ब्लॉक में कांग्रेस के 11 बीजेपी के 7 और 1 निर्दलीय सदस्य हैं। रावतसर में कांग्रेस की सीमा बनी प्रधान रावतसर पंचायत समिति प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में कांग्रेस और निर्दलीय दो ही प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। यहां बीजेपी ने अपना कोई प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं उतार निर्दलीय प्रत्याशी को ही अपना समर्थन दिया था। कांग्रेस प्रत्याशी सीमा को 10 और निर्दलीय प्रत्याशी रोशनी देवी को 5 मत मिले। गौरतलब है कि रावतसर पंचायत समिति के कुल 15 ब्लॉक में कांग्रेस के 9 बीजेपी के 2 और 4 निर्दलीय सदस्य हैं। Date:- (Sun Feb 8, 2015 At 12:46 PM)

 
INDIA VS UAE

खास खबरें

  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share

अपना जिला

डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के सदस्यों का इंकार तथाकथित मीडिया सोसायटी की हरकत की निंदा

	हनुमानगढ़। डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब हनुमानगढ़ ने मीडिया सोसायटी नामक एक कथित संगठन द्वारा कल हुई बैठक में डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब से जुड़े पत्रकारों और पदाधिकारियों के बैठक में शामिल होने सम्बन्धी दिये गये फर्जी नामों की निंदा की है। डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के जिलाध्यक्ष बालकृष्ण थरेजा के अनुसार पत्रकारों के हितों के दावे करने वाले इस संगठन ने कल हुई बैठक की विज्ञप्ति जारी की है जिसमें डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब से जुड़े पत्रकारों के नाम बैठक में शामिल होने सम्बन्धी दिये गये हैं जबकि ये पत्रकार इस बैठक में शामिल ही नहीं हुए। उक्त सोसायटी की विज्ञप्ति के अनुसार बैठक में डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के जिला उपाध्यक्ष सुभाष गुप्ता, रवि ढ़ालिया, निर्मल सिंह, राजेश अग्रवाल, राजेन्द्र वाट्स आदि पत्रकार शामिल ही नहीं हुए जबकि उक्त सोसायटी ने अपनी विज्ञप्ति में इन पत्रकारों के शामिल होने के दावे किये हैं। उक्त पत्रकारों के अनुसार वे ऐसे किसी संगठन की बैठक में शामिल नहीं हुए। प्रेस विज्ञप्ति में जानकारी देते हुए डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब के महासचिव राजु रामगढिय़ा ने बताया कि इस मुद्दे पर आगामी रविवार को डिस्ट्रीक्ट प्रेस क्लब की बैठक आयोजित की गई है। बैठक में इस तथाकथित संगठन द्वारा जारी की गई फर्जी विज्ञप्ति और अन्य मुद्दों पर चर्चा की जायेगी।Date:- (Wed Feb 25, 2015 At 4:48 PM)
See More.... Bookmark and Share

Hot News

 

बहुत कुछ

केजरीवाल बीमार, 'आप' की बैठक में नहीं होंगे शामिल

नई दिल्ली। कहावत है कि सत्ता अपने साथ-साथ बुराइयां लाती है। आम आदमी सत्ता की बुराइयों को दूर करने के दावे के साथ बनी थी। लेकिन जिस तेजी से इस पार्टी के भीतर सत्ता की बुराइयां आई हैं, उसने तमाम लोगों को हैरान कर दिया है। विवाद तू-तू मैं-मैं से शुरू होकर मर्यादाओं की सीमाओं को लांघने की हद तक जा पहुंचा है। एक खेमा अरविंद केजरीवाल के समर्थन में है तो दूसरा पार्टी में हाईकमान कल्चर के खिलाफ आवाज उठाने वाला। वहीं खबर आ रही है कि कल होने वाली आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अरविंद केजरीवाल शामिल नहीं होंगे। केजरीवाल की तबीयत खराब है। आशीष खेतान ने ट्विटर पर कहा कि जो लोग एक आदमी की पार्टी होने का बेहूदा आरोप लगा रहे हैं वहीं इसे एक परिवार की पार्टी बनाना चाहते हैं। शांति, प्रशांत और शालिनी की पिता, पुत्र और बेटी की तिकड़ी पार्टी की सभी शाखाओं पीएसी, पॉलिसी कमेटी से लेकर नेशनल एक्जिक्यूटिव तक पर कब्जा करना चाहते हैं। आशुतोष ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, शांति भूषण जी को यह भी बताना चाहिए कि अरविंद की जगह योगेंद्र के पीछे क्या साजिश थी? क्या इससे पार्टी की छवि खराब नहीं होती? पार्टी की छवि चमकाने और आम लोगों में पैठ बनाने के लिए आम आदमी पार्टी ने जिस सोशल नेटवर्किंग साइट को हथियार बनाया था, अब वही अपनों पर वार करने के काम आ रहा है। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए बनी पार्टी दिल्ली की सत्ता मिलने के बाद अपने ही दिग्गजों से लड़ती दिख रही है। तू-तू, मैं-मैं से शुरू हुआ ये खेल अब बदरंग हो चुका है। हालत ये है कि अब पार्टी के संस्थापक सदस्य प्रशांत भूषण और वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव के खिलाफ कार्रवाई की मांग हो रही है, जो बुधवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में मुमकिन है। एक तरफ केजरीवाल समर्थक गुट है तो दूसरी तरफ हाईकमान कल्चर का विरोध करने वाले। दूसरे गुट का चेहरा बनकर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव उभरे हैं। प्रशांत भूषण इस पर कायम हैं कि न तो वह पार्टी छोड़ेंगे और न ही हाई कमान कल्चर को बर्दाश्त करेंगे। भारतीय राजनीति में अलग तरह की राजनीति करने की अगुआई करने से वो बिलकुल नहीं डिगेंगे। सोमवार की रात योगेंद्र यादव ने चंदे विवाद पर चुप्पी तोड़ी। यादव ने दावा किया कि 'फर्जी चंदा' का मामला पार्टी पदाधिकारियों के संज्ञान में था। इसका विरोध करने वालों को पार्टी लाइन से बाहन नहीं जाने को कहा गया। इस गुट को चुनाव तक शांत बैठने को कहा गया। आरोपों की जांच के लिए शांति भूषण को नियुक्त किया गया। हालांकि इन मामलों के सामने आने के बाद अब यादव पर ही राष्ट्रीय संयोजक का पद पाने की लालच करने का आरोप लग रहा है। यही नहीं, योगेंद्र यादव पर मीडिया में पार्टी के खिलाफ खबरें देने के आरोप भी लगे। ऐसे एक मामले में पार्टी ने एक पत्रकार का फोन टैप कर सबूत होने का दावा भी किया। हालांकि योगेंद्र ने न केवल रिपोर्ट को गलत करार दिया बल्कि पत्रकार पर भी सवाल खड़े किए। कुछ दिनों से बीमार अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर पूरे विवाद को दुखद बताया। उन्होंने लिखा, पार्टी में जो चल रहा है, उससे मैं दुखी हूं। यह दिल्ली वालों के विश्वास के साथ धोखेबाजी करने जैसा है, इस गंदी लड़ाई में मैं नहीं पड़ूंगा, मैं जनता के भरोसे को किसी भी हालत में टूटने नहीं दूंगा। इस बीच शांति भूषण ने पार्टी में एका बनाए रखने और केजरीवाल को ही संयोजक बनाए रखने की वकालत की है। सुलह की इस कोशिश के बावजूद पार्टी की अंदरुनी कलह में तमाम मर्यादाएं पीछे छूट गई हैं। 3/3/2015 7:06:19 AM
See More.... Bookmark and Share


देश-प्रदेश

मुझे जेल भेजने की धमकियां मिला करती थीं: मोदी

नई दिल्ली। राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में विरोधियों को नसीहत दी और अपनी सरकार के कार्यक्रम भी गिनाए। मोदी ने कहा कि देश को आगे ले जाने में सभी सरकारों का योगदान है। साथ ही मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में न धमकियां चलती हैं, न चलेंगी। मोदी ने कहा काले धन पर किसी भी पार्टी को धमकी नहीं दी गई है। जब मैं 14 साल गुजरात का मुख्यमंत्री था, मुझे जेल भेजने की धमकियां मिला करती थीं। जो बातें किसी ने कही नहीं, उसे किसी के मुंह में ना डालें। जिस नजरिए से आप जिए हैं, उस नजरिए से जीने को ना कहें। सरकारी योजनाओं के नाम बदले जान के मुद्दे पर मोदी न कहा कि यूपीए सरकार ने एनडीए सरकार की कई योजनाओं के नाम बदले हैं। वाजपेयी के नाम से बनी योजनाओं के भी नाम बदले गए हैं। मोदी ने कहा कि आधार कार्ड योजना एनडीए की थी। भोजन गारंटी योजना भी एनडीए की थी। शिक्षा का अधिकार कार्यक्रम भी वाजपेयी जी ने चलाई थी। बीजेपी पर उच्चवर्ग की पार्टी होने का आरोप लगता था। बीजेपी ने ऐसी राज्यों में सरकार बनाई जहां अल्पसंख्यक बड़ी संख्या में हैं। गोवा-नागालैंड में ईसाई बड़ी संख्या में हैं, पंजाब में सिख हैं और कश्मीर में मुस्लिमों की बड़ी आबादी है, लेकिन बीजेपी ने सभी राज्यों में सहयोगियों के साथ सरकार बनाई। बीजेपी उत्तर से दक्षित तक है। गंगा सफाई क्या कारपोरेट वर्ल्ड के लिए है। स्वच्छता अभिआन गरीबों से जुड़ा हुआ है। जन धन योजना गरीबों के लिए है। हमारी सरकार गरीबों के लिए है। हमारा लक्ष्य 2022 तक गरीबों को मकान देने का है। ये हमारा या आपका (विपक्ष) नहीं गरीबों का कार्यक्रम है। सरकार हर गरीब की सेवा के लिए तैयार है।
See More.... Bookmark and Share


खबरें और भी

गांव/कस्बों की खबरें

डायरेक्टरी

फ्यूचर प्लस

 

लो आ गई पानी से चलने वाली बाइक, देती है 250 का माइलेज

 
नई दिल्ली। अब आने वाले समय हो सकता है आप पानी से चलने वाली बाइक की सवारी कर रहे हों, क्योंकि अब ऎसी बाइक बनाई जा चुकी है। इतना ही नहीं बल्कि यह बाइक पेट्रोल से चलने वाली बाइक्स को भी माइलेज के मामले में मात करती है। यह बाइक एक लीटर पानी में 250 किलोमीटर चलती है। पानी से चलने के कारण इस बाइक में किसी दुर्घटना का भी कोई खतरा नहीं। इसमें एक और खास बात ये है कि इस बाइक को बनाने में महज 1900 रूपए का खर्चा आया है। पानी से चलने वाली इस बाइक को दसवीं के छात्र नित्याशीष भंडारी ने बनाया है तथा इसे 42वें स्टेट लेवल साइंस मैथमेटिक्स एंड इंवायरमेंट एग्जीबिशन-2015 में प्रदर्शनी के लिए रखा गया है। भंडारी ने पेट्रोल बाइक में बदलाव कर उसे पानी से चलने वाली बना दिया। उन्होंने इस बाइक को पानी चलाने के लिए ऑक्सी हाइड्रोजन सेल की तीन प्लेट्स 3/6 इंजन में फिट करवाई जो पानी को ऑक्सी हाइड्रोजन गैस में बदल देती हैं। हालांकि इस बाइक को एकबार स्टार्ट करने के लिए पेट्रोल की जरूरत होती है इसके बाद यह तुरंत गैस पकड़ लेती है। इसके बाद इंजन में जितनी गैस जनरेट होती है उतनी ही खर्च होती रहती है। नित्याशीष के मुताबिक इस किट को कार में भी लगाया जा सकता है जिससे छोटी कारें बहुत ही आसानी से चल सकती है। इस किट की एक और खास बात ये है इसमें इस्तेमाल करने के लिए पाने पानी की जरूरत नहीं बल्कि समुद्री जल या डिजिटल वॉटर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह समुद्र के एक लीटर पानी से 250 किलोमीटर चलती है।
Bookmark and Share

job/exam/result

Hanumangarh live | Hanumangarh News | Hanumangarh News | Raj News | Hanumangarh Rajasthan | News in Hanumangarh | hanumangarh Town in Hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh