अपना जिला

दादरी ने दी दीवाली की शुभकामनाएं

हनुमानगढ़, कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेंद्र दादरी ने सभी जिलेवासियों व कांग्रेसजनों को दीपावली पर्व की शुभकामनाएं दी हैं। अपने शुभकामना संदेश में उन्होंने कहा कि रोशनी से जगमग दीपोत्सव सभी के जीवन में खुशियों की नई सौगात लेकर आए। यह पर्व आम आदमी के जीवन को प्रकाशवान कर गरीबी और अभावों का अंधकार दूर करे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने आग्रह किया है कि इस पावन त्योहार पर दीन-हीन, गरीब व्यक्ति के जीवन को रोशनी से भरने का संकल्प लें। उन्होंने लोगों से अपने घर, गली, चौराहे और गांव-शहर की स्वच्छता वर्ष भर बनाए रखने का आग्रह भी किया। उन्होंने कहा कि दीपावली के मौके पर हम सभी लोग ऐसे प्रयास करें जिससे दीपावली एक दिन का नहीं बल्कि पूरे जीवन का उत्सव बन जाए।Date:- (Thu Oct 23, 2014 At 3:59 PM)

देश-प्रदेश

पीएम मोदी ने सियाचीन में सैनिकों से कहा, सभी भारतीय आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं

नई दिल्ली: दिवाली के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सियाचिन ग्लेशियर पर तैनात भारतीय सैनिकों के साथ कुछ समय बिताया और वहां संदेश दिया कि सभी भारतीय उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। बर्फ की ऊंची चोटियों से मोदी ने दीपावली के मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को बधाई दी। 'शायद पहली बार किसी प्रधानमंत्री को दीपावली के शुभ दिन हमारे जवानों के साथ समय बिताने का अवसर मिला है।' मोदी ने ट्वीट किया, 'बर्फ की ऊंची चोटियों से और अपने बहादुर जवानों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों को में शुभ दीपावली की कामना करता हूं। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सियाचिन से शुभ दीपावली की शुभकामना दी। मैं समझता हूं कि प्रणब दा को मिली बधाई में यह अनोखा होगा।' दिल्ली से रवाना होने से पहले पूर्व मोदी ने कहा कि वह बर्फ की ऊंची चोटियों पर इस संदेश के साथ जा हैं कि सीमा की सुरक्षा में लगे सैनिकों के पीछे सभी लोग दृढ़ता से खड़े हैं। दिवाली के त्यौहार पर जम्मू कश्मीर के बाढ़ प्रभावित लोगों के साथ कुछ क्षण बिताने के लिए श्रीनगर जाने से पहले मोदी ने सियाचिन का दौरा किया। उन्होंने कहा, 'मैं प्रत्येक भारतीय की ओर से यह संदेश लेकर सियाचिन जा रहा हूं कि हम आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।' देश के प्रहरियों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'चाहे यह उंचाई हो या भीषण ठंड, हमारे सैनिकों को कोई नहीं रोक सकता। वे वहां खड़े हैं और देश की सेवा कर रहे हैं । वे हमें सही मायने में गौरवान्वित कर रहे हैं।' सियाचिन के संक्षिप्त दौरे के बाद मोदी बाढ़ पीड़ितों से मिलने के लिए श्रीनगर रवाना हो गए। मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा, 'सियाचिन दौरे के बाद मैं श्रीनगर का अपना पूर्व निर्धारित दौरा जारी रखूंगा और हाल ही में आयी बाढ़ से प्रभावित लोगों के साथ समय बिताउंगा।' उन्होंने आगे कहा, 'हर किसी को सियाचिन के कठिन हालात के बारे में जानकारी है। हर चुनौती से पार पाते हुए हमारे सैनिक अडिग खड़े हैं, हमारी मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।'

अपना जिला

अब एक सरकारी इंजेक्शन से बच्चों में होगी पांच बिमारियों की रोकथाम

हनुमानगढ। सरकारी अस्पताल में बच्चों को निशुल्क लगाए जाने वाले डीपीटी और हेैपेटाइटिस बी के इंजेक्शन को एक करके राज्य सरकार अब नई वैक्सीन पैंटावैलेंट को जल्द ही लॉच करने जा रही है । इससे बच्चों को पांच बिमारियों डिप्थीरिया, टिटनेस वूफिंग कफ ( कुत्ता खांसी), हैपेटाइटिस बी, और हिब ( निमोनिया ) से बचाया जा सकेगा..आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह ने बताया कि सरकार 3 नवंबर को इस इंजेक्शन को लॉंच कर सकती है। डॉ सिंह ने बताया कि पहले से सरकारी अस्पताल में निशुल्क लगाए जाने वाले डीपीटी के टिक्के से जहां डिप्थीरिया, टिटनेस और कूकर खांसी की रोकथाम होती थी वहीं हैपेटाइटिस बी के टीके से हैपेटाइटिस बी की रोकथाम की जा रही थी। इन चारों बिमारियों के अलावा हिब यानि निमानिया को शामिल करते हुए सरकार अब पांच बीमारियों की बच्चों में रोकथाम के लिए नई वैक्सीन पैटावैलेंट लॉच करने जा रही है।Date:- (Tue Oct 21, 2014 At 12:06 PM)

अपना जिला

सफाई कर जानी दुकानदारों की समस्याएं

हनुमानगढ़। पूर्व मंत्री व विधायक डा. रामप्रताप के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने शनिवार को टाउन बस स्टैंड की सफाई की। सफाई अभियान के बाद डा. रामप्रताप ने व्यापारियों व रेहड़ी वालों को बस स्टैंड पर सफाई बनाए रखने की अपील की। उन्होंने दुकानदारों से बातचीत की और उनकी समस्याओं को सुन समाधान का आश्वासन दिया।Date:- (Sat Oct 18, 2014 At 5:24 PM)

बहुत कुछ

व्यापार मण्डल शिक्षा समिति ने खरीदी नई स्कूल बस

हनुमानगढ़। व्यापार मण्डल शिक्षा समिति ने छात्राओं को लाने लेजाने के लिए एक 36 सीटर नई स्कूल बस खरीदी है। व्यापार मण्डल शिक्षा समिति अध्यक्ष बालकृष्ण गोल्याण ने बताया कि ग्रामीण छात्राओं को और ज्यादा सुविधाऐं मुहैया कराने तथा आवागमन की समस्या को देखते हुए नई बस की खरीद की गई है। इस मौके पर अध्यक्ष बालकृष्ण गोल्याण, उपाध्यक्ष सतीश कुमार, सचिव संजय जैन, सहसचिव विरेन्द्र सारस्वत, कोषाध्यक्ष विनोद गुप्ता , पवन गोल्याण ;निदेशक, कृषि उपज मण्डी समिति ने महाविद्यालय व स्कूल स्टॉफ को व छात्राओं को बधाई दी। शिक्षा समिति निदेशक श्रीमती निर्मला नागपाल, महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. वी के शर्मा, प्रधानाचार्या श्रीमती रीटा सैनी, वी एम स्कूल प्रधानाचार्य श्री आर के गुप्ता ने शिक्षा समिति का आभार जताया। इसके बाद स्कूल कॉलेज छात्राओं ने नई बस द्वारा भद्रकाली जाकर माँ भद्रकाली के दर्शन किये। Date:- (Thu Oct 16, 2014 At 4:58 PM)

 
bang bang trailer

खास खबरें

  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share
  •   Bookmark and Share

अपना जिला

दादरी ने दी दीवाली की शुभकामनाएं

   हनुमानगढ़, कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेंद्र दादरी ने सभी जिलेवासियों व कांग्रेसजनों को दीपावली पर्व की शुभकामनाएं दी हैं। अपने शुभकामना संदेश में उन्होंने कहा कि रोशनी से जगमग दीपोत्सव सभी के जीवन में खुशियों की नई सौगात लेकर आए। यह पर्व आम आदमी के जीवन को प्रकाशवान कर गरीबी और अभावों का अंधकार दूर करे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने आग्रह किया है कि इस पावन त्योहार पर दीन-हीन, गरीब व्यक्ति के जीवन को रोशनी से भरने का संकल्प लें। उन्होंने लोगों से अपने घर, गली, चौराहे और गांव-शहर की स्वच्छता वर्ष भर बनाए रखने का आग्रह भी किया।
        उन्होंने कहा कि दीपावली के मौके पर हम सभी लोग ऐसे प्रयास करें जिससे दीपावली एक दिन का नहीं बल्कि  पूरे जीवन का उत्सव बन जाए।Date:- (Thu Oct 23, 2014 At 3:59 PM)
See More.... Bookmark and Share

Hot News

 

बहुत कुछ

ज्यादा पढ़ा नहीं इसलिए बांट दिए 50 करोड़: सावजीभाई ढोलकिया

सूरत दिवाली पर गुजरात के हीरे व्यवसायी सावजीभाई ढोलकिया की दरियादिली की चर्चा पूरे देश में है। हरिकृष्णा एक्सपोर्ट के चेयरमैन सावजीभाई ने अपने 1200 कर्मचारियों को ऐसे गिफ्ट दिए कि लोग दंग रह गए। इन्होंने 525 कर्मचारियों को 3.5 लाख रुपए की हीरे की जूलरी दी। उन 200 कर्मचारियों को दो कमरे के फ्लैट मिले हैं जिनके पास घर नहीं थे। इसके साथ ही 491 कर्मचारियों को गिफ्ट में कार मिली। कंपनी ने इसे लॉयल्टी बोनस कहा है। सावजीभाई ने कहा कि अब वह हीरे की पॉलिश करने वाले अपने कर्मचारियों को डायमंड इंजिनियर कहा करेंगे। ढोलकिया ने 1991 में अपने तीन भाइयों के साथ मिलकर एक करोड़ रुपए की रकम से बिजनस की शुरुआत की थी। आज की तारीख में इनका बिजनस 6000 करोड़ रुपए का हो गया है। मैंने कोई पढ़ाई नहीं की ढोलकिया ने कहा कि मैंने जीवन में कभी पढ़ाई नहीं की। ऐसे में हम अपने अनुभव से रोज पढ़ाई करते हैं। मैंने चार क्लास तक ही पढ़ाई की। 12 साल की उम्र में पढ़ाई छोड़ दी। हम चारों भाई मिलकर डायमंड इंडस्ट्री में आए। मेरा छोटा भाई सबसे ज्यादा पढ़ा है। मैं पढ़ा लिखा नहीं हूं इसलिए रोज पढ़ता हूं। मैं ज्यादा पढ़ा होता तो ऐसी सोच नहीं होती। उन्होंने कहा कि मैं हार्वड से पढ़कर आता तो शायद इतनी दरियादिली नहीं होती। इस अरबपति बिजनस मैन की खास बातें ढोलकिया ने कहा कि मेरे पास कुछ भी नहीं था। मैंने जीरो से शुरुआत की थी। ईश्वर की इनायत है कि मैं इस मुकाम तक पहुंचा। ढोलकिया ने कहा कि हम अपने कर्मचारियों की ईमानदारी और मेहनत के दम पर ही यहां तक पहुंचे हैं। ऐसे में मुनाफा मैं अकेले नहीं पचा सकता। सावजीभाई ने पिछली दिवाली में भी 100 कर्मचारियों को कार तोहफे के रूप में दी थी। उन्होंने कहा कि जो भी मेरे पास है वह कुदरत की देन है। अभी तक मेरा अनुभव है कि देने से कम नहीं होता है। ये तो प्रकृति का नियम है कि एक दाना बोने से 100 दाने का उत्पादन होता है। आज तक हमने जो दिया है उससे ज्यादा ही मिला है। ढोलकिया ने कहा, 'मैंने विश्लेषण किया कि आखिर 1 करोड़ से 6 हजार करोड़ तक पहुंचने में किसका सबसे ज्यादा योगदान है? फिर हमने सोचा कि हमारे 12 सौ कर्मचारियों की सबसे बड़ी भूमिका है। मैंने 6000 कर्मचारियों में 1200 सबसे मेहनती कर्मचारियों का चुनाव किया। मैंने अपने बेटे को न्यू यॉर्क से एमबीए कराया है। उससे स्टडी कराई कि हमारे बिजनस के फैलाव में किनका सबसे ज्यादा योगदान है।' ढोलकिया ने कहा कि हमने अपने कर्मचारियों को बहुत नहीं दिया है। जो भी दिया है वह थोड़ा है। इनकी मेहनत के आगे कुछ भी नहीं है। मेरा मानना है कि इससे मेरे और कर्मचारी प्रेरणा लें। ढोलकिया ने कहा, 'मैंने तोहफे देने में 50 करोड़ खर्च किए। मैंने सोचा था कि सबको गाड़ी दूं। बाद में पता चला कि 200 लोगों के पास घर नहीं है इसके बाद योजना में बदलाव किया गया। जिसके पास घर भी था और गाड़ी भी उसकी पत्नी को जूलरी दी गई। 451 लोगों को कारें दीं। मेरा मानना है कि इससे दूसरी कंपनियों को भी प्रेरणा मिलेगी। मैंने अपने कर्मचारियों के लिए क्रिकेट, वॉलिबॉल, टेनिस कोर्ट, स्विमिंग पूल और जिम की भी व्यवस्था की है।' मेरे कर्मचारी पढ़े लिखे नहीं हैं लेकिन वे किसी कुशल इंजिनियर से कम नहीं हैं। इंडिया में इंजिनियर की जितनी सैलरी नहीं है उससे कई गुना ज्यादा मैं सैलरी देता हूं। मेरे 1200 कर्मचारियों ने 10 करोड़ का टीडीएस भरा है। इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि उनकी सैलरी कितनी होगी। मैं सोशल बिजनस कर रहा हूं। मेरे कर्मचारी देश के 21 राज्यों से हैं। ये 361 गांव से ताल्कुकात रखते हैं। इन सभी के माता-पिता को मैं जानता हूं। अपने कर्मचारियों के माता-पिता को तीर्थ यात्रा कराता हूं। मेरा बिजनस करने का तरीका यही है। मैं बिजनस में सोशल जिम्मेदारी उठाता हूं। मेरा मानना है कि पैसा देने से लोगों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। ढोलकिया ने कहा कि मैं पहले देता हूं तब लेता हूं 10/23/2014 4:01:13 AM
See More.... Bookmark and Share


देश-प्रदेश

पीएम मोदी ने सियाचीन में सैनिकों से कहा, सभी भारतीय आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं

नई दिल्ली: दिवाली के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सियाचिन ग्लेशियर पर तैनात भारतीय सैनिकों के साथ कुछ समय बिताया और वहां संदेश दिया कि सभी भारतीय उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। बर्फ की ऊंची चोटियों से मोदी ने दीपावली के मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को बधाई दी। 'शायद पहली बार किसी प्रधानमंत्री को दीपावली के शुभ दिन हमारे जवानों के साथ समय बिताने का अवसर मिला है।' मोदी ने ट्वीट किया, 'बर्फ की ऊंची चोटियों से और अपने बहादुर जवानों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों को में शुभ दीपावली की कामना करता हूं। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सियाचिन से शुभ दीपावली की शुभकामना दी। मैं समझता हूं कि प्रणब दा को मिली बधाई में यह अनोखा होगा।' दिल्ली से रवाना होने से पहले पूर्व मोदी ने कहा कि वह बर्फ की ऊंची चोटियों पर इस संदेश के साथ जा हैं कि सीमा की सुरक्षा में लगे सैनिकों के पीछे सभी लोग दृढ़ता से खड़े हैं। दिवाली के त्यौहार पर जम्मू कश्मीर के बाढ़ प्रभावित लोगों के साथ कुछ क्षण बिताने के लिए श्रीनगर जाने से पहले मोदी ने सियाचिन का दौरा किया। उन्होंने कहा, 'मैं प्रत्येक भारतीय की ओर से यह संदेश लेकर सियाचिन जा रहा हूं कि हम आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।' देश के प्रहरियों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'चाहे यह उंचाई हो या भीषण ठंड, हमारे सैनिकों को कोई नहीं रोक सकता। वे वहां खड़े हैं और देश की सेवा कर रहे हैं । वे हमें सही मायने में गौरवान्वित कर रहे हैं।' सियाचिन के संक्षिप्त दौरे के बाद मोदी बाढ़ पीड़ितों से मिलने के लिए श्रीनगर रवाना हो गए। मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा, 'सियाचिन दौरे के बाद मैं श्रीनगर का अपना पूर्व निर्धारित दौरा जारी रखूंगा और हाल ही में आयी बाढ़ से प्रभावित लोगों के साथ समय बिताउंगा।' उन्होंने आगे कहा, 'हर किसी को सियाचिन के कठिन हालात के बारे में जानकारी है। हर चुनौती से पार पाते हुए हमारे सैनिक अडिग खड़े हैं, हमारी मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।'
See More.... Bookmark and Share


Hanumangarh live | Hanumangarh News | Hanumangarh News | Raj News | Hanumangarh Rajasthan | News in Hanumangarh | hanumangarh Town in Hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh | hanumangarh